आपका स्वागत है...

मैं
135 देशों में लोकप्रिय
इस ब्लॉग के माध्यम से हिन्दू धर्म को जन-जन तक पहुचाना चाहता हूँ.. इसमें आपका साथ मिल जाये तो बहुत ख़ुशी होगी.. इस ब्लॉग में पुरे भारत और आस-पास के देशों में हिन्दू धर्म, हिन्दू पर्व त्यौहार, देवी-देवताओं से सम्बंधित धार्मिक पुण्य स्थल व् उनके माहत्म्य, चारोंधाम,
12-ज्योतिर्लिंग, 52-शक्तिपीठ, सप्त नदी, सप्त मुनि, नवरात्र, सावन माह, दुर्गापूजा, दीपावली, होली, एकादशी, रामायण-महाभारत से जुड़े पहलुओं को यहाँ देने का प्रयास कर रहा हूँ.. कुछ त्रुटी रह जाये तो मार्गदर्शन करें...
वर्ष भर (2017) का पर्व-त्यौहार नीचे है…
अपना परामर्श और जानकारी इस नंबर
9831057985 पर दे सकते हैं....

धर्ममार्ग के साथी...

लेबल

आप जो पढना चाहते हैं इस ब्लॉग में खोजें :: राजेश मिश्रा

30 अगस्त 2014

Radhashtmi Utsav 2014

इस्कॉन मंदिर, मायापुर धाम (पश्चिम बंगाल) में राधाष्टमी उत्सव की तैयारी जोरों पर 


मायापुर। इस्कॉन मंदिर, मायापुरधाम में राधारानी का प्राकट्‌योत्सव राधाष्टमी उत्सव 2 सितम्बर को विभिन्न कार्यक्रमों के साथ हर्षोल्लास से मनाने की तैयारी जोरों पर है। इस्कॉन मायापुर के जनसंपर्क अधिकारी रसिक गौरांग दास ने राजेश मिश्रा को बताया कि इस अवसर पर राधा-माधव का मनोहारी श़ृंगार भजन-कीर्तन, अभिषेक, उपहार के साथ भक्तों ने नृत्य गीत के साथ राधा माधव को रिझाने की तैयारी जोरों पर है। राधाष्टमी के शुभ अवसर पर राधा रानी जन्म लीला का दुर्लभ दर्शन करने और उत्सव में शामिल होने के लिए भारी संख्या में भक्तजन मायापुरधाम पहुंच रहे हैं।जहाँ राधा-माधव का मनमोहक श़ृंगार और उनपर ओजस्वी संतों द्वारा व्याख्या सुनाने और देखने का आनंद मिलेगा। इस्कॉन के अन्य मंदिरों में भी राधाष्टमी उत्सव परम्परागत रूप में हर्षोल्लास पूर्वक मनाये जायेंगे। दरअसल राधारानी को कृष्ण भक्त लीलाधारी भगवान श्रीकृष्ण का ही एक रूप मानते हैं। भक्तों का मानना है कि भगवान श्रीकृष्ण और राधारानी दो नहीं नहीं बल्कि एक ही हैं। इसलिए वे राधाष्टमी को एक बड़े उत्सव के रूप में मनाते हैं। 

मायापुरधाम में जन्माष्टमी-नन्दोत्सव

इस्कॉन मंदिर मायापुरधाम में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का भव्य, परमभ्परागत आयोजन गत 18 अगस्त को किया गया। प्रात: मंगल आरती, श्रीमद्‌भागवत कथा, दर्शन आरती, भजन, कीर्तन,  यज्ञ व संस्कार, दोपहर में भोग आरती, भजन कीर्तन, संध्या आरती, सांस्कृतिक कार्यक्रम, कीर्तन, महाअभिषेक, अर्द्धरात्रि आरती, अनुकल्प प्रसादम के आयोजन में हजारों भक्तों ने दर्शन लाभ लिया। साथ ही 19 अगस्त को नंदोत्सव तथा श्रील प्रभुपाद की जयंती भी मनायी गयी। दोनों दिन भारी संख्या में भक्तजन शामिल हुए। इस्कॉन, मायापुरधाम के जनसंपर्क अधिकारी भक्त श्री गौरांग दास जी महाराज ने बताया कि उत्सव में देश-विदेश से भक्तों की भारी भीड़ आयोजन में उपस्थित थी। 

मेरी ब्लॉग सूची

  • World wide radio-Radio Garden - *प्रिये मित्रों ,* *आज मैं आप लोगो के लिए ऐसी वेबसाईट के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसमे आप ऑनलाइन पुरे विश्व के रेडियों को सुन सकते हैं। नीचे दिए गए ल...
    6 माह पहले
  • जीवन का सच - एक बार किसी गांव में एक महात्मा पधारे। उनसे मिलने पूरा गांव उमड़ पड़ा। गांव के हरेक व्यक्ति ने अपनी-अपनी जिज्ञासा उनके सामने रखी। एक व्यक्ति ने महात्मा से...
    6 वर्ष पहले

LATEST:


Windows Live Messenger + Facebook