आपका स्वागत है...

मैं
135 देशों में लोकप्रिय
इस ब्लॉग के माध्यम से हिन्दू धर्म को जन-जन तक पहुचाना चाहता हूँ.. इसमें आपका साथ मिल जाये तो बहुत ख़ुशी होगी.. इस ब्लॉग में पुरे भारत और आस-पास के देशों में हिन्दू धर्म, हिन्दू पर्व त्यौहार, देवी-देवताओं से सम्बंधित धार्मिक पुण्य स्थल व् उनके माहत्म्य, चारोंधाम,
12-ज्योतिर्लिंग, 52-शक्तिपीठ, सप्त नदी, सप्त मुनि, नवरात्र, सावन माह, दुर्गापूजा, दीपावली, होली, एकादशी, रामायण-महाभारत से जुड़े पहलुओं को यहाँ देने का प्रयास कर रहा हूँ.. कुछ त्रुटी रह जाये तो मार्गदर्शन करें...
वर्ष भर (2017) का पर्व-त्यौहार नीचे है…
अपना परामर्श और जानकारी इस नंबर
9831057985 पर दे सकते हैं....

धर्ममार्ग के साथी...

लेबल

आप जो पढना चाहते हैं इस ब्लॉग में खोजें :: राजेश मिश्रा

11 अक्तूबर 2014

ISKCON TEMPLE IN DEEPDAN UTSAV 2014

मायापुरधाम, इस्कॉन मंदिर में दीपदान उत्सव
ISKCON TEMPLE MAYAPUR DHAM DEEPDAN

मायापुरधाम। इस्कॉन के प्रधान केन्द्र मायापुर चन्द्रोदय मंदिर एवं विश्व भर में स्थित 500 शाखा केन्द्रों में भी श्री लक्ष्मी पूर्णिमा की रात बुधवार, 8 अक्टूबर से दीपदान उत्सव प्रारंभ होगा, जो गुरूवार, 6 नवम्बर रास पूर्णिमा तक चलेगा। इस्कॉन के जनसंपर्क अधिकारी महाराज रसिक गौरांग दास ने धर्ममार्ग के लिए राजेश मिश्रा को बताया कि महीने भर चलने वाले इस उत्सव में जाति-धर्म-वर्ण से परे देश-विदेश से आये हर कोई दीपदान कर रहे हैं। यह आयोजन शाम सात बजे से 8 बजे तक चलता है। तत्पश्चात दामोदराष्टकम स्त्रोत पाठ होता है। इस एक माह व्यापी उत्सव को  दामोदर मास के रूप में भी जाना जाता है। अंधकार को दूर कर प्रकाश फैलाने वाला यह उत्सव सभी मनुष्यों के मन में प्रकाश लाये, प्रभु से यही प्रार्थना। रास पूर्णिमा की व्याख्या करते हुए उन्होंने बताया कि मथुरा बृंदावन में स्थित वाटिका निधि वन, जहॉं की मान्यता है की इस रात श्री कृष्ण गोपियों संग रास लीला करतें हैं। साथ में ये भी मान्यता प्रचलित है कि यहॉं मौजूद पेड़ पौधे रात में गोपियों में बदल जाते हैं। रात्रि के समय निधि वन में कोई प्राणी नहीं रहता है, पशु-पक्षी भी नहीं। अगर कोई व्यक्ति इस परिसर में रात्रि में रुक जाता है और भगवान की क्रीड़ा का दर्शन कर लेता है, तो सासारिक बंधन से मुक्त हो जाता है। ऐसे उदाहरण विगत कई वर्षों में देखने में भी आये हैं। इस वन में मौजूद मंदिर में भगवान के स्वागत के लिए आज भी मंदिर के रंग महल में प्रसाद (माखन मिश्री) प्रतिदिन रखा जाता है।

मेरी ब्लॉग सूची

  • World wide radio-Radio Garden - *प्रिये मित्रों ,* *आज मैं आप लोगो के लिए ऐसी वेबसाईट के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसमे आप ऑनलाइन पुरे विश्व के रेडियों को सुन सकते हैं। नीचे दिए गए ल...
    6 माह पहले
  • जीवन का सच - एक बार किसी गांव में एक महात्मा पधारे। उनसे मिलने पूरा गांव उमड़ पड़ा। गांव के हरेक व्यक्ति ने अपनी-अपनी जिज्ञासा उनके सामने रखी। एक व्यक्ति ने महात्मा से...
    6 वर्ष पहले

LATEST:


Windows Live Messenger + Facebook